Wednesday, 28 January 2009

इंतज़ार का मौसम

कई दिनों से मेरे निमवा दरीचों में ठहर गया है
तेरे इंतज़ार का मौसम
.... नामालुम

No comments:

Post a Comment