Thursday, 29 January 2009

इश्क

रोने से इश्क में बेबाक हो गए
धोये गए इस तरह के पाक हो गये

ग़ालिब

No comments:

Post a Comment